भारत की संस्कृति पुरे विश्व में काफ़ी प्रसिद्ध हे. भारत विविधता में एकता , अनेकता में एकता का राष्ट्र हे. आइये तो दुनिया के लोगो को भारत की संस्कृति का परिचय करवाते हे.

भाषा और धर्म ( Language & Religion ) :-  

भारत में सभी धर्मे के लोग रहते हे. हिन्दू  , मुस्लिम , सिख , इसाई , ख्रिस्ती , पंजाबी , गुजराती इत्यादि. साथ ही हिंदी और अंग्रेजी भाषा मुख्य हे किन्तु हर राज्य में हर राज्य की मुख्य भाषा भी बोली जाती हे जैसे की महाराष्ट्र में मराठी , गुजरात में गुजराती , पंजाब में पंजाबी, इत्यादि.

त्यौहार ( Festivals) :- 

भारत में जितने धर्म और जाती के लोग रहते हे उन सभी धर्म और जाती के त्यौहार मनाये जाते हे. कुछ त्यौहार तो एसे हे जो सभी धर्म और जाती के लोग साथ मिलकर मनाते हे. दिवाली भारत का मुख्य त्यौहार हे. साथ ही होली , नवरात्री , गणपति , आदि अनेक त्यौहार साथ मिलकर मनाये जाते हे.

वस्त्र – परिधान ( Clothing ) :-

download (1).jpg

आज की तारीख में रोजिंदा जीवन में भारत में लड़कियां , महिलाए और पुरुषे सभी प्रकार के पहनावे पहनते हे. किन्तु आज भी जब त्यौहार , शादी या अन्य कोई शुभ अवसर पर महिलाए साड़ी , चोली और पुरुषे धोती – कुर्ता पहनते हे. भिन्न भिन्न प्रथा और जाती-धर्म के मुजब भिन्न भिन्न प्रकार के परिधान पहनते हे..

विवाह प्रथा एवं परंपरा ( Arrange Marriage , Love Marriage  &  Tradition & culture )  :- 

 

भारत में कई एसे जोड़े होते हे जो Love Marriage करते हे किन्तु कई एसे भी जोड़ियाँ हे जो आज भी Arrange Marriage में ही विश्वास रखते हे. वैवाहिक विधि ओ में भी जाती और धर्म के अनुसार अनेक प्रकार की परमंपराए देखि जाती हे.

भोजन (Cuisine ) :- 

भारत में अनेक जाती ओर धर्मे में तो विविधताए देखी ही जाती हे किन्तु इनके भोजन में भी अनेक प्रकार की अनेकता देखी जाती हे. जैसी के उत्तरी भारत में आलू पराठा , और दक्षिण भारत में इडली – वडा – ढोसा प्रसिद्ध हे. और भी विभिन्न प्रकार की भोजन की वानगीया देखी जाती हे .

परिवार ( Joint Family ) :- 

stock-photo-family-celebrating-a-birthday-312208055.jpg

भारत में कई लोग नोकरी , व्यापार और कई अन्य कारणों की वजह से माँ – बाप से अलग रहते हे किन्तु आज भी कई ऐसे परिवार हे जो मिलजुल कार साथ में रहते हे. जहाँ माँ – बाप , भाई , बहन , दादा – दादी , चाचा-चाची सभी मिलजुल कर साथ में रहते हे. और इससे एक दुसरे के प्रति लगाव बढ़ता हे .

नृत्य ( Dancing ) :- 

भारतीय प्रकार के कई नृत्य भी हे जैसे की भरतनाट्यम , कथकली , कुटीयटम इत्यादि. विभिन्न प्रकार के जाती और धर्म के मुजब विभिन्न नृत्य किये जाते हे जैसे की महराष्ट्र में लावणी और गुजरात में गरबा प्रसिद्ध हे.

 नमस्ते और अतिथि देवो भव ( Namskaram & Guest Is Equivalent To God ) :- 

stewardess-1046868__340.png

भारत में व्यक्ति और महेमानो को अभिवादन करने के लिए “नमस्ते “बोलकर और दो हाथ जोड़कर किया जाता हे. साथ ही कई एसे परिवार और कई लोगो द्वारा अतिथि यानि महेमानो को भगवान के रूप में माना जाता हे. साथ ही आप ने यह भी नोटिस किया होगा यदि हम भारत में विदेशी होटल या रेस्टोरेंट में जाते हे तो हमें पानी ख़रीदकर पीना पड़ता हे. किन्तु जो होटल और रेस्टोरेंट भारतीय होती हे वह होटल पानी मुफ्त में यानि फ्री देती हे इसमे एक प्रकार की अतिथि या महेमाननवाजी की ही भावना होती हे.