हमने अक्सर सूखे मेवे के बारे में तो सुना ही होता हे जैसे की काजू , बादाम , पिस्ता ऐसे ही मखाने के भी इतने ही फ़ायदे हे. मखाने की खेती भारत , चीन , जापान , कोरिया , रूस जैसे अनेक देशो में की जाती हे. कहा जाता हे की भारत में सबसे अधिक मखाने का उत्पादन बिहार में किया जाता हे.

मखाना का उत्पादन कैसे किया जाता हे ? :-

तालाब , शांत पानी या दलदल में नील कमल के पत्तों के बीजो में से मखाना बनाया जाता हे. इसे बड़े से बर्तन में गर्म करके उसमे से मखाना बनाया जाता हे. मखाने का उपयोग नमकीन नास्ते में या उसकी खीर बनाकर मिठाई के रूप में भी किया जा सकता हे. मखाना के फ़ायदे भी अधिक हे.

( Important :- किसीभी खाध पदार्थ का अति सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक ही होता हे. )

मखाने के फ़ायदे :-

  • मखाना पोषक तत्व से भरपूर हे. मखाने में फाइबर की मात्रा अधिक होने से पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए यह अधिक फायदेमंद हे.
  • मखाने में प्रोटीन , फाइबर तथा कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में होता हे .
  • मखाने दिल के रोगी ओ के लिए भी अधिक लाभदायी हे. मखाने खाने से ह्रदय मजबूत बनता हे .
  • किडनी के दर्दी ओ के लिए भी मखाना अधिक लाभदायी हे .
  • मखाने में केल्सियम की मात्रा भी अधिक होती हे जिससे कमरदर्द , जोड़ो का दर्द , हड्डियों का दर्द , घुटन का दर्द आदि में राहत मिलती हे .
  • मखाना उच्च रक्तचाप ( High BP ) के दर्दी ओ के लिए भी अधिक फायदेमंद हे . यह रक्तचाप कम करने तथा रक्तचाप नियंत्रित करने के लिए भी फायदेमंद हे .
  • मखाना शारीरिक रूप से तो लाभदायी हे ही साथ ही मखाना खाने से मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहता हे. इसीलिए मखाना तनाव ग्रस्त लोग और अनिंद्रा के रोगी ओ के लिए भी फायदेमंद हे .